कोविड-19 के संक्रमण में तेजी के बीच ऑटो कंपनियों ने कार्यबल की सुरक्षा के मजबूत उपाय किए

सांकेतिक तस्वीर
Share this news

नयी दिल्ली, दो मई (भाषा) देश भर में कोविड-19 के बढ़ते कहर के बीच शीर्ष वाहन कंपनियों ने इस बेहद संक्रामक बीमारी से अपने कार्यबल की सुरक्षा के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

कोविड-19 संक्रमण में आयी तेजी के साथ मारुति सुजुकी, एमजी मोटर, हीरो मोटोकॉर्प और होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया, संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ने की खातिर पहले ही अपने-अपने विनिर्माण संयंत्रों में उत्पादन कार्य को अस्थायी रूप से बंद कर चुकी हैं।

वहीं विनिर्माण में लगी दूसरी कंपनियों भी रोकथाम के कई उपाय कर रही हैं जिनमें कारखानों में लोगों की संख्या कम कर उत्पादन में कमी लाना शामिल है। साथ ही उन्होंने कई कल्याणकारी योजनाएं भी शुरू की हैं।

देश की सबसे बड़ी वाहन कंपनी टाटा मोटर्स ने पीटीआई-भाषा को बताया कि कंपनी कोविड-19 के बढ़ते संकट को देखते हुए सतर्क है और उसने अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए प्रयास तेज कर दिए हैं।

टाटा मोटर्स ने कहा कि अनिवार्य जांच के अलावा, संयंत्र में स्क्रीनिंग की जा रही है और किसी में संक्रमण के लक्षण पाए जाने पर कंपनी सुनिश्चित करती है कि उसे अलग-थलग रखा जाए। कंपनी क्वारंटीन के लिए उसे सभी मदद देती है और उसके संपर्क में आए लोगों का पता लगाती है। महिंद्रा एंड महिंद्रा ने कहा कि वह अपने कमर्चारियों की देश भर में जारी टीकाकरण कार्यक्रम का लाभ उठाने में मदद कर रही है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा के एचआर अधिकारी (ऑटोमोटिव एंड फार्म सेक्टर्स) राजेश्वर त्रिपाठी ने कहा कि कंपनी अपने कर्मचारियों और उनके पति/पत्नियों के टीकाकरण का खर्च वहन करेगी। इसके लिए कंपनी ने कई जगहों पर अस्पतालों के साथ साझेदारी की है।

एमजी मोटर ने गुजरात के हलोल में स्थित अपना संयंत्र अस्थायी रूप से बंद कर दिया है लेकिन अपने सर्विस सेंटर पर न्यूनतम कर्मचारियों के साथ अब भी काम कर रही है।